त्रुटिरहित पत्रकारिता के लिए यह आवश्यक है कि प्रत्रकारों का समुचित प्रशिक्षण हो। पर्याप्त प्रशिक्षण के अभाव में त्रुटिपूर्ण एवं अपूर्ण खबरें प्रकाशित हो जाती है, जिससे अखबार की साख प्रभावित होती है। उक्त बातें दीघा के विधायक डा. संजीव चैरसिया ने कहीं सोमवार को कहीं। वे विश्व संवाद केन्द्र द्वारा आयोजित बारह दिवसीय पत्रकारिता प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। इस अवसर में छात्रों द्वारा तैयार की गई पत्रिका ’वर्तमान’ का लोकार्पण भी किया गया।
डा. चैरसिया ने कहा कि आजकल आयेदिन अखबारों में व्याकरणिक, तथ्यात्मक, प्रारूपात्मक गलतियां देखने को मिल जाती हैं। इसका कारण है वर्तमान पीढ़ी के कुछ पत्रकारों में प्रशिक्षण का अभाव। संपादक, उपसंपादक, मुख्य संवाददाता, विशेष संवाददाता आदि के स्तर पर शुद्धता का खूब खयाल रखा जाता है, परंतु दूरदराज के क्षेत्र में तैनात संवाददाता द्वारा फाईल की गई रिपोर्ट में अनेक अशुद्धियां होती हैं। इससे बचने के लिए अखबार विशेष द्वारा भी समय-समय पर अपने पत्रकारों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। इस संदर्भ में विश्व संवाद केन्द्र द्वारा चलाया जा रहा पत्रकारिता प्रशिक्षण कार्यक्रम सराहनीय है। इस अवसर पर उपस्थित वरिष्ठ पत्रकार एसएन श्याम ने कहा कि मीडिया के क्षेत्र में लंबे समय तक बने रहने के लिए ठोस ज्ञान का होना आवश्यक है। ये काम उचित प्रशिक्षण द्वारा किया जा सकता है। जानकारी के अभाव में पत्रकार का विकास रुक जाता है।
धन्यवाद ज्ञापन करते हुए विश्व संवाद केन्द्र के अध्यक्ष श्रीप्रकाश नारायण सिंह ने कहा कि विश्व संवाद केन्द्र का शुरु से ही यह प्रयास रहा है कि प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से एक शिक्षित एवं अनुशासित पत्रकारों की फौज खड़ी की जाये, जो समाज की साकारात्मक छवि गढ़ने में अपनी सार्थक भूमिका निभायें। उन्होंने कहा कि पिछले ग्यारह वर्षों से यह संस्था प्रशिक्षण कार्यक्रम चला रही है। आगे भी पत्रकारिता के नये एवं अद्यतन आयामों को ध्यान में रखते हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जायेगा। मंच संचालन प्रशांत रंजन ने किया। इस अवसर में राजधानी के विभिन्न मीडिया संस्थानों के वरिष्ठ पत्रकार, पत्रकारिता के विद्यार्थी आदि बड़ी संख्या में

By nwoow

Leave a Reply

Your email address will not be published.