पटना, 10 दिसंबर। भारत विकास विकलांग न्यास की ओर से स्थानीय ज्ञान भवन में आयोजित 18 वां स्थापना दिवस समारोह को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि दिव्यांगों के लिए सरकारी नौकरियों में 3 से बढ़ा कर 4 प्रतिशत तथा शिक्षण संस्थानों में नामांकन के लिए 5 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान है। सभी सरकारी स्कूलों में दिव्यांगों के लिए रेम्प का निर्माण कराया जा रहा है। भारत सरकार के सुगम्य भारत अभियान के अन्तर्गत 28 सरकारी भवनों में 26 करोड़ की लागत से दिव्यांगों की सुविधा के लिए लिफ्ट और एक्सेलेटर लगाये जायेंगे।
उन्होंने कहा कि बिहार में 2011 की जनगणना के अनुसार 23.5 लाख दिव्यांग हैं जिनमें से 14 लाख को दिव्यांगता प्रमाण पत्र दे दिया गया है शेष 7 लाख को शीध्र ही प्रखंड स्तर पर शिविर आयोजित कर प्रमाण पत्र दिया जायेगा। दिव्यांगों को स्मार्ट कार्ड दिया जायेगा जिसमें उससे संबंधित सारी जानकारी होगी। बिहार के 7 लाख दिव्यांगों को 400 रुपये प्रति महीेने की पेंशन दी जा रही है।
बिहार में दिव्यांगों के लिए एक अलग निःशक्ता निदेशालय के गठन का सरकार ने निर्णय लिया है। शीघ्र ही निःशक्ता आयुक्त की नियुक्ति और स्टेट एडवाइजरी बोर्ड का गठन कर दिया जायेगा।
राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने इस अवसर पर कहा कि पटना के कंकड़बाग स्थित विकलांग अस्पताल को पुनर्जीवित कर दिव्यांगों के लिए विशिष्ट अस्पताल बनाया जायेगा।भारत विकास विकलांग न्यास और संजय आनंद फाउंडेशन द्वारा संचालित संजय आनंद विकलांग अस्पताल के तर्ज पर इस अस्पताल को भी विकसित किया जाएगा।
राज्य के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने संस्था के कार्यकलाप की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि यह उनका सौभाग्य है कि पीड़ित मानवता के लिए संकल्पित यह अस्पताल उनके विधान सभा क्षेत्र में है और इसके स्थापना के समय से वे इससे जुड़े हैं।
समारोह में भारत सरकार की विभिन्न सेवाओं में कार्यरत दिव्यांग अधिकारी आशिष कुमार वर्मा, सादिक अहमद, अखिलेश शर्मा, अभिषेक सिंह, संदीप कुण्डु, मनीषा जाट, अबु हुजैफा आदि को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करते हुए कहा कि कठिन परिस्थितियों के बावजूद इन लोगों ने अपने संघर्ष के बलबूते आज मुकाम हासिल किया है जो काबिलेतारिफ है।
कार्यक्रम का विषय प्रवेश संस्था के अध्यक्ष देशबंधु गुप्ता ने किया। अस्पताल के भावी कार्यक्रमों की जानकारी महामंत्री बिमल कुमार जैन ने दी। मंच संचालन भारत विकास विकलांग न्यास के सदस्य और भारत विकास परिषद के पूर्व प्रान्त अध्यक्ष प्रो. वासुकी नाथ झा ने किया।

By nwoow

Leave a Reply

Your email address will not be published.