ज्ञान के क्षेत्र में दुनिया की दृष्टि भारत की ओर है। भौतिकी विषय में नित्य नए-नए प्रयोग हो रहे है। छात्र-छात्राओं  को इससे अवगत कराएं। अच्छाई की कोई सीमा नहीं होती। नई शिक्षा नीति में प्रशिक्षण की बात कही गई है। इस तरह के कार्यशाला से नई-नई बातों को सीखने का अवसर मिलता है। कक्षा-कक्ष में जाने से पहले स्वयं की तैयारी आवश्यक है। स्वयं पढ़ें और भैया बहनों को भी नवीनतम एवं आधुनिक जानकारी दें। उक्त बातें सरस्वती विद्या मंदिर, मुंगेर में भारती शिक्षा समिति, बिहार के तत्वावधान में आयोजित क्षेत्रीय उच्चतर माध्यमिक भौतिकी विज्ञान आचार्य कार्यशाला के उद्घाटन सत्र में बिहार एवं झारखंड से आए भौतिकी विषय के आचार्यों को संबोधित करते हुए विद्या भारती के राष्ट्रीय सह मंत्री डॉ. कमल किशोर सिन्हा ने कही।

इसके पूर्व विषय प्रवेश कराते हुए भारती शिक्षा समिति, बिहार के सह-सचिव प्रकाशचंद्र जायसवाल ने कहा कि शिक्षा ऐसी हो जो बच्चों को नई दिशा देने का कार्य करे तथा परिणाममूलक हो। शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने वाले व्यक्ति को सर्वप्रथम ऐसे व्यक्ति के निर्माण के बारे में सोचना चाहिए जो राष्ट्र के विकास में योगदान कर सके।

अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में निर्मल कुमार जालान ने कहा कि आचार्य अपने ज्ञान का संवर्द्धन करें एवं बच्चों को नित्य नूतन प्रयोग से अवगत कराएं।

कार्यक्रम का शुभारंभ विद्या भारती के राष्ट्रीय सह मंत्री कमल किशोर सिन्हा, भारती शिक्षा समिति बिहार के सह सचिव प्रकाश चंद्र जायसवाल, कार्यक्रम के अध्यक्ष निर्मल कुमार जालान, विद्यालय प्रबंधकारिणी समिति के सचिव अमरनाथ केशरी, प्रोफेसर के. एन. राय ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।

news 04

अतिथि परिचय प्रधानाचार्य नीरज कुमार कौशिक ने किया वहीं कार्यक्रम का गरिमामय संचालन सरस्वती विद्या मंदिर मुजफ्फरपुर के प्रधानाचार्य ज्ञानेश्वर श्रीवास्तव ने किया।

कार्यशाला में भौतिकी विज्ञान से संबंधित शिक्षण सहायक सामग्री का निर्माण, भौतिकी विषय के कार्यक्षेत्र, प्रकृति, महत्त्व प्रयोगात्मक प्रदर्शन, क्रिया कलाप तथा अन्यान्य योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाएगी। साथ ही मॉडल क्लास भी होगा जिसमें प्रतिभागी आचार्य अपनी शंका का समाधान भी करेंगे।

इस अवसर पर विद्यालय प्रबंधकारिणी समिति के सदस्य रामनरेश पांडे, उप प्रधानाचार्य उज्जवल किशोर सिन्हा, क्षेत्रीय बालिका शिक्षा संयोजिका कीर्ति रश्मि, प्रांतीय सोशल मीडिया प्रमुख संतोष कुमार, कार्यक्रम प्रमुख डॉ. नंदकिशोर मधुकर एवं कार्यक्रम प्रमुख विशाल कुमार उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.